Wednesday, December 2, 2009

बोईसर की बौद्ध गुम्फायें!

हाँ दोस्तों!
हाल ही में बोईसर के नजदीक दो गुम्फायें मिली। यह गाँव महाराष्ट्र के ठाणे जिले में पालघर तालुका में है। यहाँ से हाय वे को जाते वक्त महागाव के पास एक पहाड़ी आती है। उस पर ये गुम्फाये हैं। रविवार दिनांक २० दिसंबर को मै वहाँ एक आदिवासी शख्स के साथ गया था। बहुत उंचा पहाड़ है।
पुराने जमाने में यहाँ अजन्ता, वेरुल, कान्हेरी जैसी गुम्फायें तैयार कराने का काम शुरू हुआ था। लेकिन ऐसा लगता है की शायद पत्थर का दर्जा कुछ कम होने से उन लोगों ने काम छोड़ दिया।
यहाँ की कुछ तस्वीरें...
१)
यहाँ के इकट्ठा कराने पर एक मूर्ति तैयार हुई । यह अधूरी मूर्ति ... बुद्ध मूर्ति जैसी लगाती है। उस का सर देखिये...

२)
वही मूर्ति... दूसररी और से...

३)
पहाड़ की चोटी पर पानी की ताकि॥

४)
पत्थर पर कमल-पुष्प॥

५)
पत्थर पर कुछ चिन्ह ...

६)
पहाड़ी पर गुम्फा॥ इसे गाय का गोठा कहा जाता है... बाजु में दूसरी गुम्फा जिसे बाघ की खोली कहा जाता है।

सॉरी । तस्वीरें बाद में दूंगा। अब फोटो ऑरकुट के मेरे अल्बम में है। अप देख सकते है...